बाबा रामदेव पतंजलि ने सरकार को कॉन्फिडेंस में ना लेकर कोरोनिल लांच कर दी पढ़े पूरी खबर

0
263
Baba Ramdev launches coronil launch with no raw player government in confidence
Baba Ramdev launches coronil launch with no raw player government in confidence

Baba Ramdev Patanjali Launches Coronil Without Taking Government To Confidence

कोरोनिल दवा को मंगलवार को रामदेव ने लांच किया

Ramdev launched coronil medicine on Tuesday
Ramdev launched coronil medicine on Tuesday

रामदेव भले ही मोदी सरकार के करीबी हों परन्तु उन्होंने ओवर कॉन्फिडेंस में कोरोनिल दवाई को लांच किया जो कि कोरोना मरीजों को 7 दिनों में ठीक करने का दावा कर रहे हैं| बाबा रामदेव ने यह कोरोनिल दवा अपने संस्थान के अधिकारियों के साथ मिलकर मंगलवार को एक कॉन्फ्रेंस के जरिए लांच की| अब दावा ये किया जा रहा है कि किसी भी प्रकार कि दवाई की लॉन्चिंग के लिए जो प्रोसेस होता है पतंजलि ने इस प्रोसेस से ना होकर इस कोरोनिल दवाई को लांच कर दिया जबकि सरकार के पास इसकी कोई जानकारी थी ही नहीं ऐसे में पतंजलि इस कोरोनिल दवा का प्रचार करने में जुट गई तुरन्त सरकार ने इस प्रचार को बंद करवा दिया|

क्या बाबा रामदेव ने ओवर कॉन्फिडेंस में कोरोनिल दवा लांच की

जी हाँ हमें तो कुछ ऐसा ही लगता है कहते हैं बड़ा बना जा सकता है परन्तु उस बड़पन को बनाये रखने की सूझबूझ होनी चाहिए और शायद बाबा रामदेव यही गलती कर गए अपने ही संस्थान में A To Z अधिकारियों के साथ मिलकर तिगड़मबाजी खेली और जल्दबाजी में कोरोना महामारी को खत्म करने का दावा ठोक डाला अपनी इस कोरोनिल दवा किट के जरिये| बाबा रामदेव एक और गलती कर गए कि सरकार को कॉन्फिडेंस में नहीं लिया उन्होंने सोचा सरकार तो हमारी है पर ये नहीं सोचा कि ये मोदी सरकार के पक्के टर्म और कंडीशन के रास्तों से होकर गुजरेगी|

ये रही कोरोना किट Here Is The Corona Kit

Here Is The Corona Kit
Here Is The Corona Kit

बिना सूझबूझ के और जल्दबाजी में लिया निर्णय हमेशा कष्टकारी होते हैं और यही बाबा रामदेव कर गए इतने बड़े पतंजलि संस्थान को चलाने वाले बाबा रामदेव इतने कच्चे खिलाडी निकलेंगे पता नहीं था|

सच्चाई बाहर आने पर अलग अलग न्यूज़ चैनल क्या कह रहे है सुने जरा

यतेंद्र सिंह रावत लाइसेंस अधिकारी, उत्तराखंड आयुर्वेद विभाग ने क्या कहा




हम ये मान लेते हैं कि दवा असरकारक है लेकिन जल्दबाजी में उन प्रोसेस को कोरोनिल की लॉन्चिंग से पहले पूरा क्यों नहीं किया गया अब सरकार इसकी जाँच करेगी और जाँच के बाद ही इस कोरोनिल दवा का क्या करना हैं देखिये क्या होता है आगे?

कोरोनिल को लेकर विवाद, चिकित्सा मंत्री बोले-बाबा रामदेव ने मजाक बना कर रख दिया, यह अपराध है।

पतंजलि द्वारा कोरोना बीमारी की दवा “कोरोनिल” Coronil बनाने को लेकर विवाद हो गया है। राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने कहा कि बिना इजाजत के दवा का क्लिनिकल ट्रायल करना गलत है। यह अपराध है। बाबा रामदेव और उनके साथियों ने अपराध किया है। कानून के हिसाब से यह ट्रायल गलत है, उन्हे सजा मिलनी चाहिए, वे चाहे केंद्र सरकार के कितने ही निकट हो, लेकिन कार्रवाई होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य की एक प्रावइेट यूनिवर्सिटी में मरीजों पर ट्रायल किया गया और हमें इस बात की जानकारी ही नहीं है। आईसीएमआर और डब्ल्यूएचओ ICMR And WHO की अनुमति बिना दवा बनाने का दावा करना आयुष मंत्रालय के गजट नोटिफिकेशन Gazette notification of Ministry of AYUSH के प्रावधानों के खिलाफ है। बाबा ने जयपुर की जिस यूनिवर्सिटी के जिस अस्पताल में मरीजों पर दवा का ट्रायल करने का दावा कर रहे हैं, वहां राज्य सरकार ने भी मरीजों को क्वारंटीन किया था और उनमें से कई तीन दिन में ठीक हुए हैं।

उन्होंने कहा, बाबा रामदेव ने मजाक बना कर रख दिया, उन्होंने नियमों को दरकिनार किया है। उधर बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण व जयपुर की नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी (निम्स) National Institute of Medical Science University (NIMS) के चेयरमेन डॉ.बलबीर सिंह तोमर के खिलाफ जयपुर के गांधीनगर पुलिस थाने में परिवाद पेश किया गया है। परिवाद पेश होने के बाद बुधवार को पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी।

Patanjali का दावा Corona को Coronil से खात्मा और आयुष मंत्रालय का फैसला कोरोनिल पर Ban

कोरोनिल पतंजलि किट का मूल्य Coronil Patanjali Kit Price क्या रखा गया है:- कोरोनिल दवा का मूल्य 545 रूपये रखा गया है बाबा रामदेव का दावा है कि इस कोरोनिल दवाई का मूल्य बहुत कम रखा गया है ताकि जो गरीब लोग कोरोना महामारी के शिकार हुए हैं वह भी इसे आसानी से खरीद सकें|

क्या हम कोरोनिल पतंजलि किट ऑनलाइन Coronil Patanjali Buy Online खरीद सकते हैं:- यहाँ पर ये जानना जरुरी है कि पतंजलि कोरोनिल किट जो कि कोरोना महामारी की दवा के रूप में लांच हुई है इसे अभी ऑनलाइन नहीं ख़रीदा जा सकता है क्योंकी यह कोरोनिल दवा अभी सरकार के आयुष मंत्रालय से प्रमाणित नहीं हैं इसलिए हमें ऑनलाइन के झांसे में नहीं आना चाहिए|




Summary: सारांश: अच्छी बात है अगर पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना महामारी की दवा खोज ली है| ओवर कॉन्फिडेंस में बाबा रामदेव ने करोनिल दवा लांच की| सरकार को जानकारी दिए बिना कोरोना महामारी की दवा पतंजलि आयुर्वेद बाबा रामदेव ने लांच की| अगर आयुर्वेद में कोरोना महामारी की कोरोनिल वैक्सीन बन चुकी हैं तो हमें इस उपलब्धि पर गर्व होना चाहिए|

पतंजलि आयुर्वेद के बारे में अपने विचार निचे कमेंट में जरूर लिखें

Please write your thoughts about Patanjali Ayurved in the comment below.

क्या आप कोरोनिल किट के बारे में इस समाचार से सहमत हैं निचे कमेंट में जरूर लिखें

Do you agree with this news about Coronil Kit? Please write in the comment below.

बाबा रामदेव की कोरोना दवा निकालने पर लोगों के कमेंट

People’s Comments On Baba Ramdev’s Corona Extract

सोमवार को ग्लेनमार्क फ़ार्मा ने करोना की दवाई निकाली 103 रूपेय की एक गोली 34 गोली का पत्ता 3500 रूपेय का, किसी मंत्रालय ने उसके दावे पर सवाल नहीं खड़ा किया, किसी ने उससे कोई सबूत नही माँगा की यह गोली करोना ठीक कर सकती है या नही पर जैसे ही बाबा रामदेव ने पाँच सौ रूपेय में करोना की किट निकाली सारे बुद्धिजीवी इसकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े करने लगे l

आयुष मंत्रालय जो ख़ुद इस बीमारी से लड़ने के लिए आयुर्वेदिक काढ़े का ज़ोर शोर से प्रचार कर रहा है वो भी तलवार भाँजने लगा l इस घटना ने दिखा दिया की यह मंत्रालय कहने को भले ही मोदी जी और हर्षवर्धन के आधीन काम करता हो पर वास्तव में यह अंग्रेज़ी दवा कंपनियों के इशारे पर नाचने वाली कठपुतली हैl किसी सरकारी मंत्रालय ने आज तक Fair & Lovely क्रीम बनाने वाली कम्पनी से यह दावा सिद्ध करने को नहीं कहा की उनकी क्रीम से काली लड़की गोरी हो जाती है क्यों उनसे इन अधिकारियों को मोटी धनराशि जो मिलती है अपना मुँह बंद रखने के लियेl

आज की तारीख़ में बाबा रामदेव की विश्वसनीयता आयुष मंत्रालय से सौ गुना अधिक हैl यह दवाई बाज़ार में आने दो, जनता इसे हाथो हाथ लेगी l आयुष मंत्रालय वालों तुम देखते रहनाl ‘”रामदेव बाबा”‘ को फांसी दो,करोडों रु का बिजनेस फेल करवाएगा ये बाबा, हस्पताल में 25 लाख का बिल कौन देगा ? तुम्हारा बाप ? “फेयर & लवली ” से गोरे होते हैं, “साफी” से खून साफ होता है, “रूह अफ़जह” से रूह को ठंडक मिलती है, “कोलगेट” से दांत मजबूत होते है, “डोव” से गाल मलाई बन जाते है, मगर रामदेव के “गिलोय, “अश्वगंधा, तुलसी” के अर्क से करोना ठीक नहीं होता, “WHO “को एतराज है इस पर सबूत चाहिए, सबूत “‘बाबा रामदेव”‘ यकीनन इस सारे ठग संस्थानों के लिए खतरा है, इस लिए सारे ‘”चोर उच्चक्के”‘ इस समय बाबा की दवा के पीछे पड़े है, कम से कम इस डिप्रेशन के समय मे बाबा ने सारे भारत मे गरीब जनता के चेहरे पर, मुस्कुराहट जरूर ला दी है|

Second Important Comment: #पतंजलि के सेवा कार्यो और अनुसंधान से पीड़ित सभी आदरणीय षड्यंत्रकारियों से निवेदन है कि इन औषधियों के मूल्य, प्रभाव व अनुसंधान एवं लाइसेंस के विषय में भी चिंता करने की कृपा करें। पता नहीं कैसे, इन वाले ब्रांड एवं दवाइयों को आयुष ने एंडोर्स भी कर दिया और अपनी मोहर और Logo भी लगाने की अनुमति दे दी, जरूर कोई बहुत बड़ा क्लिनिकल ट्रायल किया होगा! जो भारत सरकार व आयुष मंत्रालय का Logo भी लगाने की स्वीकृति दी गई है और तो और दवाई के नाम में भी कोविड-19 है।

Give Your Support For Make Digital India

Subscribe All Over India

अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

आप हमें हमारे ऑफिसियल प्रोफाइल सोशल साइट्स पर भी फॉलो कर सकते हैं जैसे कि

*आल ओवर इंडिया के ऑफिसियल पेज पर लाइक करें

*ट्विटर पर फॉलो कर सकते हैं

*आप हमें पिंटरेस्ट पर फॉलो कर सकते हैं

*आप हमें लिंक्डइन पर फॉलो कर सकते हैं

*आप हमें टम्ब्लर पर फॉलो कर सकते हैं

*आप हमें यूट्यूब पर फॉलो कर सकते हैं

*आप हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो कर सकते हैं

register your shop at alloverindia.in website
register your shop at alloverindia.in website
आपको हमारा ये Digital India Abhiyan के तहत "डिजिटल Advertisement प्रोग्राम" कैसा लगा वोट करें|आपका ये वोट हमें और अच्छा काम करने की प्रेरणा देगा|

See Something Here Very Important

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.