बुरी आदतों का हिप्नोटिज्म द्धारा उपचार।

0
205
Remove Bad Habits by Hypnotism India at alloverindia.in website

इन सब आदतों से पीछा छुड़वाने के लिए आपको किया करना है?

हिप्नोटिज्म (Hypnotism) चिकित्सा द्धारा अनेक बुरी आदतों का उपचार किया जा सकता है। बुरी आदतों से इंसान एक दिन स्वयं ही तंग आ जाता है लेकिन वह उन आदतों का ऐसा गुलाम बन जाता है कि उसके लिए इन आदतों से पीछा छुड़ाना कठिन हो जाता है।

सिगरेट Cigarette

बहुत से लोग सिगरेट (Cigarette) पीते जरूर हैं मगर मन से वह इतने दुःखी होते हैं कि सिगरेट (Cigarette) छोड़ने के लिए बहुत व्याकुल नजर आते हैं। परन्तु जब उनके सामने सिगरेट (Cigarette) छोड़ने का कोई रास्ता नहीं रह जाता तो मजबूर होकर सिगरेट (Cigarette) पीते रहते हैं।

सिगरेट (Cigarette) के विषय में प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक (Psychological) विद्वान फ्राइड का यह मत है कि-“सिगरेट (Cigaretteपीने का सम्बन्ध भी काम विज्ञान से जुड़ा हुआ है।” “Cigarette smoking is linked to science working relationship”.

यदि आपके पास कोई इस प्रकार का रोगी आता है तो उसका उपचार इस प्रकार से करें पहले उसे आदेश दें और फिर उस पर हिप्नोटिज्म (Hypnotism) शिक्षा के अनुसार उसे अपने वश में करके निद्रा में सुलाकर अपना उपचार शुरू करें –

अब तुम सिगरेट (Cigaretteनहीं पी सकोगे। तुम्हें सिगरेट (Cigaretteसे जले हुए रबड़ की

बू आएगी। मैं तुम्हेंसिगरेट (Cigaretteदेता हूँ पिओ……. छिः छिः इसमें से तो बदबू आती है। इसके साथ रोगी को सुलगता हुआ सिगरेट (Cigarette) दें।

जैसे ही वह कश लगाएगा तो वह थूकता हुआ कहेगा -“मुझे इसमें से बदबू  रही है।

अब तुम सिगरेट (Cigaretteनहीं पी सकोगे।” Now you will be able smoked.

इसके पश्चात रोगी को जगा दें। दो या तीन दिन तक ऐसा करने से रोगी अपने आप सिगरेट (Cigarette) से घृणा करने लगेगा और वह सदा के लिए सिगरेट (Cigarette) छोड़ देगा।

हिप्नोटिज्म द्धारा शराब कैसे छोड़े (How Wine Left By Hypnotism)

जैसा की पाठकों को यह बात बार – बार बताई जा चुकी है कि हिप्नोटिज्म (Hypnotism) कोई जादू – टोना अथवा तंत्र विद्या नहीं है। इसमें ऐसी कोई भी आशा रखना बेकार है और ऐसे किसी भी परिणाम की कल्पना न करें जो जादूगरी शिक्षा से प्राप्त होती हो। शराब में यही कहा जा सकता है कि इसका नशा धन, स्वास्थ्य और चरित्र पर बुरा प्रभाव डालता है। कोई भी बुरी आदत लगने में समय नहीं लगता किन्तु उसे छोड़ने के लिए तो बहुत प्रयत्न करने पड़ते हैं।

शराब का रसिया जैसे – जैसे पुराना होता जाता है वैसे – वैसे उसकी आदत भी पक्की होती जाती है। इसलिए ऐसे रोगियों का शराब छुड़ाना कुछ भारी पड़ता है। परन्तु फिर भी एक अच्छे डॉक्टर हर और निराशा नाम की कोई चीज़ नहीं होती। शराब पीने वालों को आप किसी भी रोक नहीं सकते। सरकारी तौर पर हर वर्ष शराब बंदी पर करोड़ों रुपए ख़र्च किए जाने पर भी शराब की बिक्री बहुत बड़ी है और शराब पीने वालों की संख्या भी बड़ी है, तो इसका अर्थ आप क्या निकलेंगे?

यही न शराब की आदत को छुड़वाना सरल नहीं है। इसके लिए हमारी विद्या यह कहती है कि – पहले तो रोगी को हिप्नोटाइज (Hypnotism) करके उसे शराब के बारे में बुराइयाँ बताकर उसके मन में यह बात बैठाई जाए कि शराब बुरी चीज़ है। इसमें से सड़ी बदबू आती है। इसके निरंतर सेवन से आदमी के फेफड़े गल जाते हैं तो क्षय रोगी को जन्म देते हैं। इससे धन नष्ट होता है। इस प्रकार की बातें शराबी के मन में हिप्नोटिज्म (Hypnotism) द्धारा बैठाकर शराब छुड़वा सकते हैं।

शराब ही नहीं इस प्रकार की नफरत जब भी किसी के मन में आप बैठा दोगे तो वह बुरी आदतें छोड़ देगा। प्रयत्न और परिश्रम ही सफलता के प्रतीक हैं। इसलिए अपने प्रयत्नों में ढील न आने दीजिए।

हिप्नोटिज्म (Hypnotism) के सफल डॉक्टर के पास निराशा नाम की कोई चीज़ नहीं होती। इसलिए पहले अपने आप पर विश्वास रखें और फिर अपनी शिक्षा की शक्ति से उपचार प्रारम्भ करें। सफलता आपके साथ होगी।

पढ़ने के बाद आप इस वेब पेज को अपने मित्रों के साथ शेयर करना ना भूले। आप हमें फेसबुकट्विटर, गूगल प्लस, पिंटरेस्ट, लिंकेडीन और रेडिट पर फॉलो कर सकते हैं।